Child Education Planning: बढ़ती महंगाई में करें बच्चों की हायर एजुकेशन की फाइनेंशियल प्लानिंग, कैसे करें ?Child Education Planning: बढ़ती महंगाई में करें बच्चों की हायर एजुकेशन की फाइनेंशियल प्लानिंग, कैसे करें ?

आज के दौर में जब महंगाई आसमान छू रही है तो निवेश की योजना बनाना बहुत जरूरी है। चाहे वह पेंशन फंड हो या अपने बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए धन जुटाना हो, आपको पहले से योजना बनाने की जरूरत है, अन्यथा आपको भविष्य में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यह माता-पिता की जिम्मेदारी है कि वे अपने बच्चे को अच्छी शिक्षा दें। लेकिन आजकल, एक अच्छी शिक्षा के लिए कई लाख रुपये की आवश्यकता होती है। 15 साल की स्थिति पर नजर डालें तो ये लागत कई गुना बढ़ जाएगी। इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि आप अभी से अपने बच्चे की उच्च शिक्षा में निवेश करना शुरू कर दें। यहां ऐसी ही एक योजना के बारे में जानें जो आपको मामूली निवेश के साथ 15 वर्षों में कई लाखों का फंड जमा करने में मदद करेगी।

पहले ये समझिए कि अगले 15 साल में क्या होगा

बच्चे की शिक्षा की योजना बनाने से पहले 15 साल की स्थिति को समझना जरूरी है। तभी आप निवेश के महत्व को ठीक से समझ पाएंगे। फिलहाल एक इंजीनियरिंग डिग्री या प्रोफेशनल कोर्स की कीमत 7 से 10 लाख के बीच है। ऐसे में अगर हम 7 फीसदी की महंगाई दर भी मान लें तो भी यह लागत 20 लाख रुपये से 28 लाख रुपये के बीच होगी. इसलिए, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप अपने बच्चे को किस कोर्स में पढ़ाना चाहते हैं, आपको मुद्रास्फीति की दर के आधार पर गणना करके वर्तमान दर का मूल्यांकन करना चाहिए। इससे आपको अंदाजा हो जाएगा कि आपको 15 साल में एक ही कोर्स पर कितना पैसा खर्च करना होगा।

कहां करें इन्‍वेस्‍ट

अगर आप कम समय में ज्यादा रिटर्न कमाना चाहते हैं तो एसआईपी के जरिए म्यूचुअल फंड में निवेश करने पर विचार करें। पिछले कुछ सालों में SIP पर लोगों का भरोसाकाफी बढ़ गया है क्योंकि SIP औसतन 12% तक का रिटर्न देते हैं। यदि आप भाग्यशाली हैं, तो आप 15% से अधिक कमा सकते हैं। कई लोग SIP से 20% तक मुनाफा कमाते हैं।

SIP से आपको चक्रवृद्धि ब्याज का लाभ मिलता है. आप जितना अधिक समय तक निवेश करेंगे, उतना बेहतर होगा। अगर आप हर महीने एसआईपी में कम से कम 4,000 रुपये निवेश करते हैं और इसे 15 साल तक जारी रखते हैं, तो 12 फीसदी ब्याज दर पर आप औसतन 20,18,304 रुपये जोड़ लेंगे, जबकि 15 साल में भी आप 7,20,000 रुपये निवेश करेंगे। वहीं, अगर आप 15 साल तक प्रति माह 5,000 रुपये का निवेश करते हैं, तो 15 साल में आप कुल 9 लाख रुपये का निवेश कर चुके होंगे और 15 साल बाद आपको 12 प्रतिशत रिटर्न के साथ कुल 25,22,880 रुपये प्राप्त होंगे। . इससे आप अपने बच्चे की सभी जरूरतों को आसानी से पूरा कर सकते हैं।

यह डाटा 24 फरवरी 24 तक का है

कैसे चुने अच्छा म्यूच्यूअल फण्ड

हर किसी का निवेश और बचत करने का अपना-अपना तरीका होता है। लोग कहां निवेश करते हैं यह काफी हद तक इस बात पर निर्भर करता है कि वे किस स्तर का जोखिम उठाना चाहते हैं। जो लोग जोखिम से बचना चाहते हैं वे छोटी बचत या बैंक एफडी की ओर रुख करते हैं, जबकि जो लोग जोखिम से नहीं डरते हैं वे उच्च रिटर्न की तलाश में शेयर बाजार की ओर रुख करते हैं। पिछले कुछ सालों में भारतीय शेयर बाजार में पैसा लगाने वालों की संख्या तेजी से बढ़ी है। इसके साथ ही इसके साथ ही म्यूचुअल फंड की भी डिमांड भी बढ़ी है.

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट लगेंगे

1– पैन कार्ड
2- आधारकार्ड
3– बैंक अकाउंट
4-एक मोबाइल नंबर (अलर्ट भेजने के लिए)
5– एक मेल आईडी (अलर्ट भेजने के लिए)

अगर आप हमारे साथ आप अपने बच्‍चों की हायर एजुकेशन के लिए जोड़ना चाहते हैं तो नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें

यहां क्लिक करें

By ANKIT SACHAN

अंकित सचान इन्वेस्टमेंट अड्डा के लेखक , पेशे से इंजीनियर और AMFI Registered म्यूच्यूअल फण्ड डिस्ट्रीब्यूटर हैं।

One thought on “Child Education Planning: बढ़ती महंगाई में करें बच्चों की हायर एजुकेशन की फाइनेंशियल प्लानिंग, कैसे करें ?”
  1. Today, I went to the beach with my kids. I found a sea shell and gave it to my 4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.” She placed the shell to her ear and screamed. There was a hermit crab inside and it pinched her ear. She never wants to go back! LoL I know this is totally off topic but I had to tell someone!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *