दोस्तों जैसा की हम जानते है इंटरनेट कितना तेजी से अपने देश में फ़ैल रहा है आज कल शायद ही कोई होगा जो इंटरनेट से अछूता होगा ऐसे मे अगर हम लोग आईटी से रिलेटेड स्कीम या कंपनियों में निवेश करते हैं तो शायद फायदा का सौदा होगा मैंने यहां पर शायद शब्द का उपयोग इसलिए किया है क्यों की आपका ये रूपये शेयर मार्केट में निवेश होंगे इस कारण खतरे से इनकार नहीं किया जा सकता है। 

टाटा म्यूच्यूअल फण्ड हाउस ने कल यानि 14 मार्च को एक NFO (New Fund  Offer ) लांच किया है यह एक ओपन एंडेड एक्सचेंज ट्रेडेड फण्ड ( ETF ) है। यहां पर ओपन एंडेड से  तातपर्य यह है की आप जब चाहें इस फण्ड में इन्वेस्ट करना शुरू कर सकते हैं , और जब चाहें आप इस फण्ड से अपना निवेश किया गया रुपया  निकाल सकते है। ETF  भी एक तरह से म्यूच्यूअल फण्ड होते हैं जो की शेयर की तरह शेयर बाजार में  National  Stock  Exchange  या Bombay Stock  Exchange  मैं  ट्रेड होते है  आप जितनी चाहे उतनी  संख्या में इन्हें खरीद या बेच सकते है । 

TATA Nifty india Digital Exchange traded fund
TATA Nifty india Digital Exchange traded fund

TATA Nifty india Digital Exchange traded fund

इस स्कीम में जो भी निवेश होगा वह  30 कंपनियां बताई गयी है उनमें होगा और निवेश किये रूपये का अनुपात कम्पनिओं के  पोर्टफोलियो  में weightage अनुसार डिस्ट्रीब्यूट होगा   

 NFO Open -14 मार्च 2022 

NFO Close -28 मार्च 2022 

मिनमम निवेश – इस स्कीम में निवेश करने की मिनिमम राशि 5000 रूपये है। 

स्कीम का प्रकार – यह एक ओपन एंडेड एक्सचेंज ट्रेडेड फण्ड है जो की निफ़्टी इंडिया के डिजिटल इंडेक्स को फॉलो करेगा। 

लोड स्ट्रकचर – इस स्कीम को ज्वाइन करने पर  कोई  अतिरिक्त शुल्क नहीं देना  पड़ेगा तथा एग्जिट लोड भी कुछ नहीं है। 

 एक्सपेंस रेश्यो – अभी इस स्कीम से रिलेटेड एक्सपेंस रेश्यो की जानकारी आधिकारिक साइट पर उपलब्ध नहीं है 

ट्रैकिंग Error–  अभी इस स्कीम से रिलेटेड ट्रैकिंग Error- की जानकारी आधिकारिक साइट पर उपलब्ध नहीं है 

Return –वैसे ये एक नया फण्ड है अतः कोई रिटर्न का रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं है 

Future & Option – ETF में  Future & Option सेगमेंट में ट्रेडिंग नहीं होती है 

इंट्राडे Intraday  यहां पर इंट्राडे का मतलब एक ही दिन की गयी शेयरों की खरीद वा बेच से है मतलब अगर आप कोई शेयर पहले खरीद कर उसी दिन उसे बेच देते हैं या पहले बेंच देते है उसके बाद उतनी ही संख्या में खरीद लेते है।  ETF  में इंट्राडे ट्रेडिंग होती है

टैक्स Tax  ETF जिस सेगमेंट से सम्बन्धित होता है उसी सेगमेंट से सम्बन्धित टैक्स नियम लागू होते है जैसे इक्विटी के सम्बन्ध में  10 %+ Cess यह टैक्स तब लगता है जब आपने कोई ETF एक वर्ष से ज्यादा अपने पास होल्ड करके रखा है और अगर अपने कोई etf एक वर्ष के अन्दर  खरीद कर बेच दिया है तो उस पर शार्ट टर्म कैपिटल  गेन  टैक्स लगेगा जो की मौजूदा नियम के अनुसार 15 %+Cess लगता है अगर आपको ETF को होल्ड करने पर हानि होती है होती है तो आप इसे अपने इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय  अधिकतम 8  वर्ष  तक अपने  कैपिटल गेन से सेट ऑफ कर सकते है 

Scheme Information Brochure 

TATA Mutual Fund 

अगर आप इस स्कीम में निवेश करने की सोच रहे है तो आप किसी Qualified  Financial  advisor  से जरूर  सलाह ले लें। 

By ANKIT SACHAN

मेरा नाम अंकित सचान है और मूलतः मैं कानपुर उत्तर प्रदेश जिले के घाटमपुर तहसील से सम्बन्ध रखता हूँ मैंने B.tech Electrical Engineering की शिक्षा उत्तर प्रदेश के सरकारी Engineering कॉलेज (Bundelkhand Institute of Engineering & Technology Jhansi ) ली है तदुपरांत मैंने प्राइवेट सेक्टर को चुना और अपनी नौकरी शुरू की अब तक मैँने २ कंपनियों में नौकरी की है मैंने Ramky Enviro Engineers Ltd में 8 वर्ष तथा PI Industries में 2 साल से काम कर रहा हूँ

Leave a Reply

Your email address will not be published.