पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट से अधिकतम रिटर्न कैसे प्राप्त करें ?पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट से अधिकतम रिटर्न कैसे प्राप्त करें ?

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) सबसे अच्छा निवेश के लिए बेस्ट स्कीम है. लेकिन क्यों? अच्छी ब्याज दरों के अलावा टैक्स बेनिफिट भी मिलता है। बहुत से लोगों को यह पता नहीं होता है कि इस योजना (पब्लिक प्रोविडेंट फंड) में कब निवेश करना चाहिए। एक साथ निवेश करें या हर महीने पैसा लगाएं? पर्सनल फाइनेंस एक्सपर्ट का कहना है कि यदि आप अपने पीपीएफ का पूरा उपयोग करना चाहते हैं तो आपको ‘विशेष’ तारीख को ध्यान में रखना चाहिए। अगर आप महीने के पहले 5 दिनों में पब्लिक प्रोविडेंट फंड में निवेश करते हैं तो आपको ज्यादा फायदा मिलेगा। पीपीएफ पर ब्याज दर 7.1 फीसदी है. ब्याज दर तिमाही आधार पर संशोधित की जाती है. पीपीएफ खाते पर ब्याज की गणना मासिक मंथली कम्पाउंडिंग के आधार पर की जाती है।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड में कौन सी तारीख को निवेश करना चाहिए ?

निवेशक को हर महीने की 5 तारीख तक पीपीएफ खाते में पैसा जमा करना होगा। यदि आप 5 तारीख के बाद जमा करते हैं, तो आपको उस महीने जमा की गई राशि पर कोई ब्याज नहीं मिलेगा। हर महीने की 5 तारीख से आखिरी दिन तक न्यूनतम राशि पर ब्याज मिलता है।

गड़बड़ा जाएगा रिटर्न का कैलकुलेशन

चलिए नए फाइनेंशियल ईयर से शुरू करते हैं. आपने अप्रैल में निवेश करना शुरू किया। अप्रैल के पहले पांच दिन बेहद अहम होंगे. क्योंकि अगर आप 5 अप्रैल तक पीपीएफ में 1.5 लाख रुपये जमा करते हैं, तो आपको वित्तीय वर्ष के दौरान 7.1% की ब्याज दर से कुल 10,650 रुपये का ब्याज मिलेगा। लेकिन यहीं ट्विस्ट आता है. अगर आपने यह पैसा 15 अप्रैल के बाद जमा किया है तो वित्तीय वर्ष में आपको मिलने वाले ब्याज की गणना 11 महीने के लिए की जाएगी. इसका मतलब है कि आप एक महीने से अधिक समय तक लाभ नहीं कमा पाएंगे। ऐसे में आपको 9763 रुपये ब्याज मिलेगा. इसका मतलब है कि आपको ब्याज के तौर पर 887 रुपए का कम ब्याज मिलेगा तो गड़बड़ा गया ना रिटर्न का कैलकुलेशन. इस महीने की 5 तारीख बहुत जरूरी है.

क्या हर महीने करें निवेश?

अगर आप अपने पीपीएफ से ज्यादा ब्याज कमाना चाहते हैं तो हर महीने के बजाय वित्तीय वर्ष की शुरुआत में सारा पैसा निवेश करें। पीपीएफ में प्रति वर्ष निवेश की सीमा 1.5 लाख रुपये है। अगर आप 1 से 5 तारीख के बीच एक साल में पूरे 1.5 लाख रुपये या जितनी रकम आप निवेश करना चाहते हैं, निवेश करने की योजना बना रहे हैं। इसके अलावा, यदि आप हर महीने निवेश करने की योजना बनाते हैं, तो 5 तारीख या फिर उससे पहले पैसा लगा दें.

PPF के निवेश से जुड़ी कुछ खास बातें

बैंकों के अलावा पोस्‍ट ऑफिस में भी PPF Account खोल सकते हैं.
1-शुरुआत में यह 15 साल के लिए खोला जाता है.
2- बाद में 5-5 साल के ब्लॉक में बढ़ाया जा सकता है.
3- इस अकाउंट में 1 साल में न्यूनतम 1 बार और अधिकतम पीपीएफ खाते में एक शख्स साल में ज्यादा से ज्यादा 12 बार पैसे जमा कर सकता है.
4-साल में 1 बार में कम से कम 500 रुपए और अधिकतम 1.5 लाख रुपए तक जमा करा सकते हैं.
5- PPF स्कीम में ब्‍याज दर तीन महीने में रिवाइज होती है.
6- इस समय PPF खाते पर 7.1 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है.
7 PPF अकाउंट सिंगल खुलवाया जा सकता है.
8- PPF में नॉमिनी बनाने की सुविधा भी मिलती है.
9- PPF account को बैंक से पोस्‍ट ऑफिस या पोस्‍ट ऑफिस से बैंक में ट्रांसफर किया जा सकता है.

पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट एक्‍सटेंशन

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) एक बहुत अच्छा निवेश विकल्प माना जाता है। यह एक सरकारी योजना है जिसमें गारंटीड ब्‍याज मिलता है । इस स्‍कीम में कोई भी भारतीय निवेश कर सकता है। पीपीएफ 15 साल की अवधि वाली एक लंबे समय की स्‍कीम है, है और इसमें चक्रवृद्धि ब्याज का लाभ मिलता है।ऐसे में अच्‍छा खासा फंड इसके जरिए तैयार किया जा सकता है.

इस कारण से, हालांकि निवेश के कई विकल्प मौजूद हैं, लेकिन ज्यादातर लोग निवेश करना पसंद करते हैं। फिलहाल पीपीएफ पर ब्याज दर 7.1 फीसदी है. अगर आपने इस योजना में निवेश किया है और 15 साल से अधिक समय तक इसका लाभ लेना चाहते हैं तो आप इस योजना को आगे बढ़ा सकते हैं। हालाँकि, क्या आप जानते हैं कि आप कितनी बार पीपीएफ बढ़ा सकते हैं? यदि आपने कभी निवेश किया है, तो आपको इसका उत्तर जानना चाहिए:

जानिए कितनी बार करवा सकते हैं एक्‍सटेंशन

पीपीएफ एक्‍सटेंशन के मामले में निवेशक के पास दो तरह के विकल्‍प होते हैं। पहला विकल्प निवेश के साथ खाते का विस्तार करना है और दूसरा विकल्प बिना निवेश के खाते का विस्तार करना है। यदि आप अपना योगदान बरकरार रखते हुए अवधि बढ़ाना चाहते हैं, तो आप अवधि को पांच-पांच साल के ब्लॉक में पूरा कर सकते हैं। इससे आपका अकाउंट एक बार में 5 साल के लिए बढ़ जाएगा. पीपीएफ एक्सटेंशन आवश्यकतानुसार बार-बार किया जा सकता है।

कैसे होगा कॉन्‍ट्रीब्‍यूशन के साथ एक्‍सटेंशन

यदि आप 15 साल के बाद योगदान के साथ अपना पीपीएफ खाता जारी रखना चाहते हैं, तो आपको उस बैंक या डाकघर में आवेदन करना होगा जहां खाता है। आपको यह आवेदन जमा करना होगा और समाप्ति तिथि के एक वर्ष के भीतर नवीनीकरण आवेदन पूरा करना होगा। फॉर्म उसी डाकघर/बैंक शाखा में जमा किया जाता है जहां पीपीएफ खाता खोला गया है। यदि आप समय सीमा तक यह फॉर्म जमा नहीं करते हैं, तो आप अपने खाते में योगदान नहीं कर पाएंगे।

बिना कॉन्‍ट्रीब्‍यूशन के एक्‍सटेंशन कैसे कराएं

अगर आप 15 साल के बाद पीपीएफ खाते में निवेश नहीं करना चाहते हैं लेकिन इसके ब्याज का फायदा उठाना चाहते हैं तो यह विकल्प भी आपके लिए उपलब्ध है। आपको इसकी सूचना बैंक या डाकघर को देने की जरूरत नहीं है। अगर आप 15 साल के बाद रकम नहीं निकालते हैं तो यह विकल्प अपने आप लागू हो जाता है. फायदा यह है कि आपके पीपीएफ खाते में जो भी रकम जमा होगी, उस पर आपको पीपीएफ गणना के मुताबिक ब्याज मिलेगा और टैक्स छूट भी मिलेगी। इसके अलावा, आप इस खाते से किसी भी समय कितनी भी राशि निकाल सकते हैं। आप चाहें तो सारा पैसा निकाल भी सकते हैं.।

By ANKIT SACHAN

अंकित सचान इन्वेस्टमेंट अड्डा के लेखक , पेशे से इंजीनियर और AMFI Registered म्यूच्यूअल फण्ड डिस्ट्रीब्यूटर हैं।

3 thoughts on “पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट में अधिकतम रिटर्न कैसे प्राप्त करें ?”
  1. I genuinely relished what you’ve produced here. The outline is elegant, your written content trendy, yet you appear to have obtained some anxiety regarding what you wish to deliver thereafter. Assuredly, I will return more frequently, akin to I have almost constantly, provided you maintain this incline.

  2. I really enjoyed what you have accomplished here. The outline is elegant, your written content is stylish, yet you seem to have acquired a bit of apprehension over what you aim to convey next. Undoubtedly, I will revisit more frequently, just as I have been doing nearly all the time in case you sustain this upswing.

  3. I genuinely relished what you’ve produced here. The outline is elegant, your written content trendy, yet you appear to have obtained some anxiety regarding what you wish to deliver thereafter. Assuredly, I will return more frequently, akin to I have almost constantly, provided you maintain this incline.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *