नमस्कार दोस्तों
आज मैं फिर हाज़िर हूँ एक नया  इन्वेस्टमेंट ऑप्शन  (National Pension Scheme)लेकर जिसका नाम है नेशनल  पेंशन स्कीम (National Pension Scheme ) हम सब जब  जवान होते है तब पैसा कमा  रहे होते है परंतु जब हम बूढे  बेबस हो जाते है तब हमारे पास  इनकम का कोई स्रोत नही होता है तब हम बेबस और परेशान होते है  इस कारण से हम सब को अपने रिटायरमेंट की प्लानिंग समय रहते कर  लेनी चाहिए  , NPS (National Pension Scheme ) हमें इन्हीं  सब परेशानी  से बचती है और  रिटायरमेंट मैं  सुकून भरी जिंदगी प्रदान करती है
             New  Pension Scheme नई पेंशन स्कीम
What  IS NPS – समान्यता भारत मैं रिटायरमेंट की उम्र ६० वर्ष है परंतु कुछ जगह ये उम्र ६५ वर्ष है लेकिन भविष्य  मैं ये उम्र ७०  वर्ष किये जाने की सम्भावना है , अधिक से अधिक लोगों को आर्थिक सुरक्षा मिले जब वे रिटायर हो इसके लिए भारत सरकार द्वारा ये योजना २००४ मैं शुरू की गयी है
इस योजना का लाभ भारत के सभी नागरिक एवं  अप्रवासीय भारतीय नागरिक ले सकते है

History– दोस्तों पहले सरकार सभी अपने कर्मचारियों को खुद पेंशन देती थी जब वे रिटायर होते थे परंतु दिन पर दिन कर्मचारियों की बढ़ती संख्या के कारण सरकारी खजाने पर बोझ बढ़ता जा रहा था अतएव सरकार द्वारा इस नीति में  बदलाव किया गया और   National Pension Scheme  प्रस्तुत की गयी  ये योजना जनवरी २००४ से प्रारम्भ की गयी थी एवम जनवरी २००४ से सरकारी नौकरी ज्वाइन करने वालों को National Pension Scheme  के अंतर्गत लाया गया , अब इन सब कर्मचारियों को पुरानी  पेंशन योजना का लाभ नही मिलेगा ,
वर्ष २००९ मैं इस योजना का विस्तार किया गया और ये भारत के सभी नागरिको के लिए शुरू की गयी

Pran  Card – दोस्तों PAN  कार्ड की तरह ही एक कार्ड होता है जो NPS Subscriber  को दिया जाता है PRAN – परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर (Permanent retirement  account number ) इस कार्ड पर खाता  धारक का १० अंको  का अकाउंट नंबर लिखा होता है

New  Pension Scheme नई पेंशन स्कीम


NPS  के तहत दो तरह के खाते खोले जाते है टियर १ एवं टियर टू 

टियर १ – इस खाते  मैं खाताधारक को ६० वर्ष तक पैसा जमा करना होता है और ६० वर्ष का बाद पेंशन मिलनी शुरू होती है , अब आप सोच रहे होंगे की इस खाते  पर ब्याज कितना मिलता होगा , दोस्तों इस खाते  पर कोई ब्याज नही मिलता है बल्कि ये म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund)की तरह ही काम करता है  मतलब ये की जिस दिन आप इस खाते पर पैसा जमा करते है उसके एक या दो दिन के बाद की NAV के हिसाब से आपको points  मिल जाते है एक या दो दिन का समय  प्रोसेसिंग  टाइम होता है 

टियर २ – इस खाते पर आप जब चाहे पैसा जमा करें एवम जब चाहे पैसा निकालें , ये एक तरह से सेविंग अकाउंट की तरह ही काम करता है  अब आप सोच रहे होंगे की इस खाते  पर ब्याज कितना मिलता होगा , दोस्तों इस खाते  पर कोई ब्याज नही मिलता है बल्कि ये म्यूच्यूअल फण्ड की तरह ही काम करता है  मतलब ये की जिस दिन आप इस खाते पर पैसा जमा करते है उसके एक या दो दिन के बाद की NAV के हिसाब से आपको points  मिल जाते है एक या दो दिन का समय  प्रोसेसिंग  टाइम होता है , 

अब आप सोच रहे होंगे की आपके पैसे की कौन देखरेख करता है , तो दोस्तों PFRDA  द्धारा  कुछ fund मेनेजर नियुक्त किये गए है जो आपके पैसे की देखरेख करते है और अपने हिसाब से इन्वेस्ट करते है ,कुछ फण्ड मैनेजरों के नाम नीचे दिए गए है आप अपने हिसाब से इन फण्ड मैनेजरो को चुन सकते है

 1-HDFC Pension Management Company Limited.
2-ICICI Pension Fund Management Company
 Limited.
3-Kotak Mahindra Pension Fund Limited.
4-LIC Pension Fund Limited.
5-Reliance Capital Pension Fund Limited.
6-SBI Pension Funds Private Limited.

 टियर १ एवम टियर २ पर आपका पैसा ३ जगह पर निवेश किया जाता है ये -Equity (Scheme E ) ,Corporate Debt (Scheme C)  ,Govt Securities  (Scheme D) मतलब ये की E ,C ,D  निवेश के रिस्क को बताता है  स्कीम इ पर सबसे ज्यादा रिस्क है तथा  सबसे ज्यादा रिटर्न भी होता है ,तथा Scheme C पर माध्यम स्तर  का रिस्क होता है तथा रिटर्न भी माध्यम होता है ,Scheme D पर रिस्क का स्तर  न्यूनतम होता है तथा रिटर्न  भी न्यूनतम होता है 
जब आप NPS  का खाता  खुलवाते है तब आपसे स्कीम में  Fund Manager  चुनने का ऑप्शन होता है तथा  Scheme चुनने का ऑप्शन होता है -Auto  & Manual , Auto  स्कीम मैं जैसे जैसे आप की उम्र बढ़ती जाती है फण्ड मैनेजर अपने हिसाब से रिस्क का स्तर घटता जाता है तथा manual मोड  मैं आप जो percentage select  करेंगे उसी हिसाब से पैसा इन्वेस्ट किया जायेगा और ये उम्र के हिसाब से नही बदलेगा , और आप इसे भविस्य मैं बदल सकते है मतलब आप कभी भी Auto  मोड से manual  mode  मैं अथवा manual  मोड से auto मोड मैं , आप Scheme E  मैं अधिकतम ५० % ही ले सकते है 
Age Asset Class E Asset Class C Asset Class G
Upto 35 years 50% 30% 20%
36 years 48% 29% 23%
37years 46% 28% 26%
38 years 44% 27% 29%
39 years 42% 26% 32%
40 years 40% 25% 35%
41 years 38% 24% 38%
42 years 36% 23% 41%
43 years 34% 22% 44%
44 years 32% 21% 47%
45 years 30% 20% 50%
46 years 28% 19% 53%
47 years 26% 18% 56
48 years 24% 17% 59%
49 years 22% 16% 62%
50 years 20% 15% 65%
51 years 18% 14% 68%
52 years 16% 13% 71%
53 years 14% 12% 74%
54 years 12% 11% 77%
55 years 10% 10% 80%

  NPS से जुड़ने का तरीका – NPS  से जुड़ने के लिए आप को  फण्ड मैनेजर के POS (Point of  Shell ) ऑफिस जाना होगा और वहां NPS  अकाउंट ओपनिंग फॉर्म भरना होगा , आप को एक कैंसिल चेक भी ले जाना होगा जो आपके लिंक अकाउंट के लिए होगा अगर आप टियर २ अकाउंट खुलवाते है और अपना पैसा विड्राल करते है तो आपका पैसा  आपके लिंक अकाउंट में आएगा , अधिक  जांनकारी के  लिये आप 1800110708 ,1800222080  पर सम्पर्क कर  सकते है

New  Pension Scheme नई पेंशन स्कीम

 बाजार  में NPS  के  तीन मॉडल उपलब्ध है – Govt Employee Model ( State और or  Central ), Corporate Model , All Citizen  मॉडल
मतलब  Govt Employee के लिए Govt Employee Model तथा Pvt  Employee   के लिए Corporate Model  तथा अन्य के लिए All Citizen मॉडल है

अटल पेंशन योजना  NPS  के ही अन्तर्गत आता है ये  असंगठित क्षेत्र के श्रमिको के लिए है पहले यह स्वलाबन योजना के नाम से जाना जाता था पर अटल पेंशन योजना पर प्रीमियम फिक्स है तथा रिटर्न भी फिक्स है  बाकी  में रिटर्न फिक्स नही है

New  Pension Scheme नई पेंशन स्कीम



अटल पेंशन योजना मैं  शामिल होने की न्यूनतम उम्र –१८  तथा अधिकतम उम्र ४० वर्ष है

NPS  अकाउंट  आप ऑनलाइन भी खुलवा सकते है इसके लिए आपको NPS  की साइट में जाकर खुलवाना होगा  आपके पास आधार कार्ड एवं पैन कार्ड होना जरूरी है

 NPS  में  पैसे जमा करने से आपको ८०सी  के अन्तर्गत कर  लाभ होता है ज़ो  अधिकतम १५०००० रूपये प्रति वित्तीय वर्ष है

Govt Employee Model  में  कर्मचारी  के वेतन के (BASIC +DA ) द्वारा १०% का सहयोग किया जाता है तथा १०%सरकार द्वारा मिलाया जाता है

NPS Calculator

NPS  की विशेषताएं

  टैक्स छूट – अगर आप NPS में  निवेश करते है तब आपको 80C के अन्तर्गत १५०००० रूपये की कर  छूट प्राप्त होती है
Nominee Facility – अगर किसी दुर्घटनावश  किसी कारण से NPS  Subscriber  की मृत्यु  हो जाती है तो nominee  को जमा की गयी रकम प्राप्त हो जाती है अगर nominee  NPS ज्वाइन करना चाहता है तो वह  ज्वाइन कर  सकता है

subscriber  एक fund manager से दूसरे fund मैनेजर को बदल सकता है पर एक वित्तीय वर्ष में  सिर्फ एक बार ही कर  सकता है ,

NPS  टियर १ में  निवेश करने की न्यूनतम सीमा अभी ६००० रूपये एक वित्तीय वर्ष है तथा अधिकतम की कोई सीमा नही है  अगर आप न्यूनतम राशि नही जमा करते है तो कुछ दण्ड स्वरूप कुछ राशि वसूल की जाती है

NPS  टियर २ मैं न्यूनतम ५०० रूपये हर वित्तीय वर्ष मैं जमा करना अनिवार्य है तथा टियर २ पर न्यूनतम बैलेंस २५०० रूपये रखना भी अनिवार्य है   अगर आप न्यूनतम राशि नही जमा करते है तो कुछ दण्ड स्वरूप कुछ राशि वसूल की जाती है

टियर १ अथवा टियर २ पर आप POS जाकर पैसे जमा कर सकते है परंतु अगर आप POS नही जाना चाहते है तो आप नेट बैंकिंग के द्धारा  NPS  मैं पैसा निवेश कर सकते है

अटल पेंशन योजना पर सम्बंधित खाते  से पैसे बैंक द्धारा समय समय पर काट लिए जाते है ,और जब आप ६० वर्ष की आयु प्राप्त करते है तब आपकी पेंशन शुरू हो जाती है

अगर आप ये सोच रहे है की अगर आप का तबादला किसी दूसरे शहर हो जायेगा तब क्या होगा तो आपको घबराने की कोई जरूरत नही है आप उस शहर से भी nps की सेवाएं का आनंद ले सकते है

NPS  से सैन्य कर्मचारियों को छूट प्रदान की गयी है उनकी पेंशन ब्यवस्था पुरानी  जैसी है  /

By ANKIT SACHAN

मेरा नाम अंकित सचान है और मूलतः मैं कानपुर उत्तर प्रदेश जिले के घाटमपुर तहसील से सम्बन्ध रखता हूँ मैंने B.tech Electrical Engineering की शिक्षा उत्तर प्रदेश के सरकारी Engineering कॉलेज (Bundelkhand Institute of Engineering & Technology Jhansi ) ली है तदुपरांत मैंने प्राइवेट सेक्टर को चुना और अपनी नौकरी शुरू की अब तक मैँने २ कंपनियों में नौकरी की है मैंने Ramky Enviro Engineers Ltd में 8 वर्ष तथा PI Industries में करीब 1 साल से काम कर रहा हूँ

Leave a Reply

Your email address will not be published.