सरकार ने EPF या PF से पैसा निकालने के लिए ऑनलाइन सुविधा दी है। ऐसे में कई बार देखा जाता है कि लोग बिना किसी बड़ी जरूरत के अपने PF फंड से पैसा निकाल लेते हैं। इससे उनके रिटायरमेंट फंड को बड़ा नुकसान होता है। अगर आप भी PF फंड से पैसा निकालने का प्लान बना रहे हैं तो इसके लिए आपका यह जानना बहुत जरूरी है कि EPF/PF  से पैसा निकलने पर आपके रिटायरमेंट फंड को कितना नुकसान होगा।

आप के फंड पर कितना असर पड़ेगा


अनुमानित कैलकुलेशन के मुताबिक अगर आपके रिटायरमेंट में 30 साल बचे हैं और अब आप पीएफ खाते से 50 हजार रुपये निकालते हैं तो इससे आपके रिटायरमेंट फंड पर 5 लाख 27 हजार रुपये का असर पड़ेगा. यहां जानिए कितना निकासी आपके रिटायरमेंट फंड को प्रभावित करेगा।
कितने पैसे निकालने पर 20 साल बाद कितना कम मिलेगा (रु) 30 साल बाद कितना कम मिलेगा (रु)
10 हजार 50 हजार 1 लाख 12 हजार
20 हजार 1 लाख 2 लाख 25 हजार
50 हजार 2 लाख 51 हजार 5 लाख 63 हजार
1 लाख 5 लाख 02 हजार 11 लाख 26 हजार
2 लाख 10 लाख 05 हजार 22 लाख 53 हजार
3 लाख 15 लाख 07 हजार 33 लाख 78 हजार


नोट : ये टेबल एक मोटे अनुमान के हिसाब से बनाई  गई है। इसके अलावा यहां जो टेबल बताई गई है उसमें ब्याज की गणना सालाना हिसाब से की गई गई।


जब तक बहुत जरूरी न हो EPF/PF फंड से न निकालें पैसा


जहां तक मेरा  का मानना है कि जब तक बहुत जरूरी न होने पर PF से पैसे निकालने से बचना चाहिए। इस पर 8.1% की दर से ब्याज मिल रहा है।EPF से  जितनी बड़ी रकम PF से निकाली जाएगी, रिटायरमेंट फंड कम हो जायेगा जो की लम्बे समय में काफी नुकसान देगा।

File EPF withdrawal claim under COVID-19 category and get 75% of EPF balance or 3 months of basic wages & DA whichever is less.#IndiaFightsCorona #EPFO #CoronavirusOutbreak #SocialSecurity pic.twitter.com/UbcmEcYXOi

— EPFO (@socialepfo) April 24, 2020

  

कितना कटता है पीएफ?


नियमों के मुताबिक, सैलरी पाने वाले लोगों को अपने वेतन और महंगाई भत्ते की 12% रकम PF खाते में योगदान करना अनिवार्य होता है। वहीं कंपनी की ओर से जमा की जाने वाली राशि में से 3.67% EPF में जमा होता है। बाकी 8.33% हिस्सा कर्मचारी पेंशन योजना (EPS) में जमा हो जाता है।

इन 5तरीकों से कर सकते हैं पैसों का इंतजाम


गोल्ड लोन


देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) सहित देश ज्यादातर बैंकों ने पर्सनल गोल्ड लोन की सुविधा शुरू की है। इसके तहत ग्राहक सोना रखकर कर्ज ले सकता है। SBI 7.50 की सालाना ब्याज दर पर 20 लाख रुपए तक का लोन दे रहा है। SBI के अलावा बैंक ऑफ इण्डिया, पंजाब नेशनल बैंक और बैंक बड़ोदा सहित अन्य बैंक भी गोल्ड लोन दे रहे हैं।


FD पर ले सकते हैं लोन

अगर आपके पास कोई फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) है उसको गिरवी रख कर  पर लोन ले सकते हैं। इस पर आसानी से और कम ब्याज दर पर लोन मिलना। कई बैंक ऐसे हैं जो एफडी पर 6 फीसदी से भी कम ब्याज पर लोन दे रहे हैं। अगर आप एफडी पर लोन लेते हैं तो आपको फिक्स्ड डिपॉजिट पर मिलने वाले ब्याज से 1-2 फीसदी ज्यादा ब्याज देना होगा। जैसे मान लीजिए की आपकी एफडी पर 4 फीसदी ब्याज मिल रहा है तो आपको 6 फीसदी ब्याज दर पर लोन मिल सकता है। एफडी की वैल्यू का 90 फीसदी तक आप लोन ले सकते हैं। मान लीजिए आपकी एफडी की कीमत 1.5 लाख रुपए है तो आपको 1 लाख 35 हजार रुपए लोन मिल सकता है।

 बैंक किस ब्याज दर पर दे रहा है, FD पर  लोन

बैंक लोन की ब्याज दर (%) न्यूनतम लोन (रुपए) अधिकतम लोन
भारतीय स्टेट बैंक एफडी रेट + 1%

ऑनलाइन : 25000

ब्रांच पर : कोई सीमा नहीं

एफडी के 90% तक
पंजाब नेशनल बैंक एफडी रेट + 1%

ऑनलाइन : 25000

ब्रांच पर : कोई सीमा नहीं

एफडी के 95% तक
एक्सिस बैंक एफडी रेट + 2% 25000 एफडी के 85% तक
एचडीएफसी बैंक एफडी रेट + 2% 25000 एफडी के 90% तक

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स

एफडी रेट + 1%

कोई सीमा नहीं

एफडी के 95% तक
फेडरल बैंक एफडी रेट + 2% कोई सीमा नहीं एफडी के 90% तक

इंडियन बैंक

एफडी रेट + 2% कोई सीमा नहीं एफडी के 90% तक
बंधन बैंक एफडी रेट + 1.5-2%

कोई सीमा नहीं

एफडी के 90% तक



क्रेडिट कार्ड के पर लोन

क्रेडिट कार्ड जारी करने वाली वित्तीय संस्थाएं कार्डधारकों को उनके कार्ड के प्रकार, खर्च और रीपेमेंट के आधार पर कर्ज देते हैं। एक बार एक कार्डधारक इस कर्ज का लाभ उठा लेता है, तो उसकी क्रेडिट सीमा उस राशि से कम हो जाएगी। हालांकि, कुछ कर्जदाता स्वीकृत क्रेडिट सीमा से ज्यादा और क्रेडिट कार्ड के बदले लोन देते हैं। अगर आप भी क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो इस पर लोन ले सकते हैं।

ओवरड्राफ्ट सुविधा का ले सकते हैं लाभ

कई बैंक अपने ग्राहकों को बैंक अकाउंट पर ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी देते हैं। ओवरड्राफ्ट सुविधा का फायदा तब लिया जा सकता है जब आपके अकाउंट में पैसे ना हों। हालांकि, इस पर ब्याज वसूला जाता है। आपको बता दें कि जन-धन खाते पर भी ओवरड्राफ्ट की सुविधा का लाभ मिलता है। इस सुविधा के तहत लिए गए पैसों को आप आसान किस्तों में वापस कर सकते हैं।

पर्सनल लोन
पर्सनल लोन आपकी पैसों की समस्या को दूर करने का एक आसान तरीका हो सकता है। फेस्टिवल सीजन को देखते हुए स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया, HDFC और ICICI सहित कई बैंकों ने पर्सनल लोन पर प्रोसेस फीस और अन्य चार्जेज नहीं लेने का फैसला किया है। इसके अलावा अगर आपका सिबिल स्कोर अच्छा है तो आपको आसानी से पर्सनल लोन मिल जाएगा।

पर्सनल लोन की ब्याज दरें

बैं ब्याज दर (%)
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया 8.90
पंजाब नेशनल बैंक 8.95
इंडियन बैंक 9.20
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 9.60
बैंक ऑफ महाराष्ट्र 9.70
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया 9.85
यूको बैंक 10.05
बैंक ऑफ बड़ौदा 10.25
HDFC बैंक 10.75
कोटक बैंक 10.75

By ANKIT SACHAN

मेरा नाम अंकित सचान है और मूलतः मैं कानपुर उत्तर प्रदेश जिले के घाटमपुर तहसील से सम्बन्ध रखता हूँ मैंने B.tech Electrical Engineering की शिक्षा उत्तर प्रदेश के सरकारी Engineering कॉलेज (Bundelkhand Institute of Engineering & Technology Jhansi ) ली है तदुपरांत मैंने प्राइवेट सेक्टर को चुना और अपनी नौकरी शुरू की अब तक मैँने २ कंपनियों में नौकरी की है मैंने Ramky Enviro Engineers Ltd में 8 वर्ष तथा PI Industries में 2 साल से काम कर रहा हूँ

Leave a Reply

Your email address will not be published.